निर्दोष था अफजल गुरु : अय्यर

GoTvNews
नई दिल्ली: संसद पर 2001 में हुए आतंकवादी हमले से जुड़े मामले में मौत की सजा पा चुके अफजल गुरु को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। पीडीपी के विधायकों की अफजल के शव के अवशेष लौटाने की मांग के बाद मंगलवार को कांग्रेस के नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि अफजल की फांसी से वे दुखी थे।
अय्यर का दावा है कि अफजल के खिलाफ सबूत नहीं थे। गौरतलब है कि दिल्ली की तिहाड़ जेल में 9 फरवरी 2013 को यूपीए के शासनकाल में अफजल गुरु को फांसी पर चढ़ाया गया था। उसके मृत शरीर पर अलगाववादी राजनीति को रोकने के लिए शव जेल के अंदर ही दफनाया भी गया था।

जम्मू-कश्मीर में पीडीपी संरक्षक और मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के पाकिस्तान और आतंकवादियों को सराहे जाने के विवादास्पद बयान से उत्साहित पीडीपी के 8 विधायकों ने सोमवार को अफजल गुरु के शव को सौंपे जाने की मांग की थी।

 पीडीपी के विधायकों जहूर मीर, यावर मीर, मोहम्मद खलील बडं, राजा मंजूर अहमद, मोहम्मद अब्बास वानी, एडवोकेट मोहम्मद युसुफ, एजाज मीर और नूर मोहम्मद ने साझा तौर पर एक बयान जारी कर संसद हमले के साजिशकर्ता अफजल गुरु की फांसी को न सिर्फ गलत ठहराया बल्कि यह भी कहा कि उसे गुपचुप तरीके से बारी आने से पहले ही फांसी देकर गलत किया गया। पीडीपी विधायकों के समर्थन में खुलकर सामने आते हुए निर्दलीय विधायक इंजीनियर रशीद ने भी उसके शव की वापसी की मांग को जायज ठहराया है।
Tags: , , , , ,

0 comments

Leave a Reply