कटारा हत्याकांड: आरोपियों को नही होगी फांसी, सजा 5 साल बढ़ी

GoTvNews
नई दिल्ली: दिल्ली हाई कोर्ट ने नीतीश कटारा के हत्यारों की सजा पांच साल बढ़ा दी है। शुक्रवार दोपहर सुनाए गए अपने फैसले में यूपी के राजनेता डीपी यादव के बेटे विकास यादव और उसे दो साथियों को फांसी की सजा की मांग ठुकरा दी। विशाल और उसके रिश्तेदार विशाल को 25 साल कैद में गुजारने होंगे। सुखदेव पहलवान को 20 साल की सजा दी गई है। यह मामला 2002 का है। 16-17 फरवरी की रात एक आईएएस अफसर के बेटे नीतीश कटारा की विकास ने विशाल और सुखदेव के साथ मिलकर हत्या कर दी थी। लोअर कोर्ट ने उन्हें उम्रकैद सुनाई थी। नीतीश कटारा की मां नीलम कटारा और पुलिस ने हाई कोर्ट से अपील की थी कि दोषियों को फांसी की सजा दी जाए। हाईकोर्ट ने अप्रैल 2014 में फैसला दिया था कि तीनों हत्या के दोषी हैं। तब से सजा पर बहस हो रही थी। जस्टिस गीता मित्तल और जस्टिस जेआर मिड्ढा की बेंच ने 13 साल पुराने इस मामले में बीते 8 दिसंबर को सुनवाई खत्म की थी। दोषियों ने अपील की थी कि उन्हें फांसी की सजा न दी जाए क्योंकि वे खुद को सुधारना चाहते हैं। उनका अनुरोध था कि उनकी सजा कम कर दी जाए क्योंकि उनका अपराध इतना क्रूर नहीं है कि फांसी दी जाए। दूसरी तरफ नीलम कटारा और दिल्ली पुलिस का कहना था कि डीपी यादव की बेटी भारती यादव के प्रेमी नीतीश की हत्या करने के लिए तीनों को मौत की सजा मिले। कोर्ट ने मौत की सजा तो नहीं दी लेकिन अपराधियों की सजा पांच-पांच साल बढ़ा दी।
Tags: , , , , ,

0 comments

Leave a Reply