अन्ना के धरने में पहुंचे दिल्ली के सीएम

GoTvNews
भूमि अधिग्रहण बिल मंगलवार को संसद में पेश किया जा रहा है. भूमि अधिग्रहण बिल को लेकर सोमवार से ही समाजसेवी अन्ना हजारे दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना दे रहे हैं. मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी अन्ना के साथ जंतर-मंतर पर धरना देने पहुंचे. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मोदी सरकार प्रॉपर्टी डीलर की तरह व्यवहार कर रही है. इस देश में जो भी सरकार गरीबों के खि‍लाफ कानून बनाएगी, जनता सबक सिखाएगी. अन्‍ना के आंदोलन का समर्थन करते हुए केजरीवाल ने कहा कि हम अन्ना के आंदोलन का समर्थन करते हैं. दिल्‍ली में जमीन का मुद्द केंद्र के अंदर है, लेकिन दिल्‍ली सरकार की जितनी भी ताकत होगी. किसी की भी जमीन जबरदस्‍ती अधि‍ग्रहण नहीं की जाएगी. केजरीवाल ने कहा कि अगर विकास करना चाहते हैं. अस्‍पताल, स्‍कूल, मेट्रो लाना चाहते हैं, जनता खुशी-खुशी जमीन देती है. दिल्‍ली की जनता के बीच गया तो लोगों ने कहा स्‍कूल चाहिए, कॉलेज चाहिए. जमीन के लिए पूछा तो बोले जमीन हम देंगे.जब भी जनता की मर्जी से जमीन ली जाएगी, मार्केट देख कर मुआवजा दिया जाएगा. यह पूरा कानून धोखा है. मैंने अन्‍ना को हमेशा गुरु और पिता माना है. हम आपके साथ हैं, आखि‍री तन मन तक समर्थन करते हैं. अन्ना को सचिवालय में आने का निमंत्रण देते हुए केजरीवाल ने कहा कि अन्‍ना बुधवार को दस मिनट के लिए सचिवालय में चरण रखेंगे तो सचिवालय शुद्ध हो जाएगा. अन्‍ना के आने से हमें प्रेरणा मिलेगी. अन्ना हजारे ने कहा कि मोदी सरकार का दिमाग जगह पर लाने के लिए ये धरना जरूरी है. चार महीने फिर से ये करना है. जेल भरो आंदोलन चलाना होगा. जेल में नाश्ता खाना मिलता है तो क्या हर्ज है. लोकतंत्र कहां है, सिर्फ गोरे गए और काले लोग आ गए. शरीर में जब तक प्राण हैं, तब तक मैं लड़ता रहूंगा. जिस दिन मैं मरूंगा, समाज की सेवा करता हुआ मरूंगा. अन्ना हजारे ने संसद मार्ग में विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों से मुलाकात की. अन्ना हजारे ने कहा कि ये बिल किसानों के पक्ष में नहीं है. सब इसी देश के हैं. सब मिलकर अन्याय दूर करने की कोशिश करें तो क्या दिक्कत है. केजरीवाल को स्टेज शेयर नहीं करने देंगे. पब्लिक में आएं तो ठीक है. पक्ष और पार्टी को स्टेज नहीं देंगे. सीएम के पद का सम्मान रखेंगे. इससे पहले अन्ना हजारे सोमवार को कह चुके हैं कि इस बिल के आ जाने से किसानों से उनकी जमीन छीन ली जाएगी. ऐसे में सरकार और अंग्रेजों में क्या फर्क रह गया. सोमवार को अरविंद केजरीवाल के साथ दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अन्ना से मुलाकात की थी. अन्ना से मुलाकात के बाद मनीष सिसोदिया ने बताया कि मंगलवार को अरविंद केजरीवाल जंतर-मंतर पर अन्ना के साथ मंच साझा करेंगे और अन्ना के साथ थोड़ी देर धरने पर भी बैठेंगे. सिसोदिया ने कहा, 'अन्ना पिता के समान हैं और भूमि अधिग्रहण के खिलाफ लड़ाई में आम आदमी पार्टी उनके साथ खड़ी है.' गौरतलब है कि पिछले साल दिसंबर में सरकार भूमि कानून में बदलाव करते हुए अध्यादेश लेकर आई थी. इन बदलावों में पांच क्षेत्रों-औद्योगिक कॉरिडोर, पीपीपी प्रोजेक्‍ट्स, ग्रामीण अवसंरचना, किफायती आवास और रक्षा के लिए सहमति की शर्त को भी हटा दिया गया था.
Tags: , , , , , ,

0 comments

Leave a Reply