सम्मान के बाद शहीद

GoTvNews
श्रीनगर : जम्‍मू-कश्‍मीर के त्राल में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए कमांडिंग अफसर कर्नल एमएन राय और एक हेड कांस्टेबल को बुधवार को पूरे सैन्‍य सम्‍मान के साथ श्रीनगर में श्रद्धांजलि दी गई। वीरता पदक पाने वाले श्रीनगर के आर्मी हेडक्‍वार्टर में दोनों शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। शहीद कर्नल एमएन राय को एक दिन पहले ही गणतंत्र दिवस के मौके पर वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। श्रीनगर में सेना के जवानों ने नम आंखों से उन्‍हें श्रद्धांजलि दी। शहीद कर्नल एमएन राय का आज दिल्ली में अंतिम संस्कार किया जाएगा। गौरतलब है कि मंगलवार को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल इलाके में मुठभेड़ के दौरान कर्नल एमएन राय और जम्मू कश्मीर पुलिस के हेड कांस्टेबल संजीव सिंह शहीद हो गए थे। गणतंत्र दिवस पर सम्मान पाने वाले कर्नल ने अगले ही दिन शहादत का तमगा पहन लिया। दक्षिण कश्मीर में पुलवामा जिले के त्राल में हुए इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने हिज्बुल मुजाहिद्दीन के दो आतंकियों को मार गिराया। कर्नल राय गणतंत्र दिवस पर वीरता पदक से पुरस्कृत किए जाने वाले सैन्‍यकर्मियों में शामिल थे। उन्हें पिछले साल दक्षिण कश्मीर में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में उनकी भूमिका को लेकर युद्ध सेवा पदक से पुरस्कृत किया गया। बीते दिन सेना को ऐसी खबर मिली थी कि एक स्थानीय हिज्बुल आतंकवादी अपने अन्य साथियों के साथ आया है। पुलिस ने राष्ट्रीय राइफल्स की मदद से तलाशी अभियान शुरू किया, जिसके बाद आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ छिड़ गई। जम्मू कश्मीर पुलिस के साथ 42 राष्ट्रीय राइफल्स की टुकड़ी इस ऑपरेशन की अगुवाई कर रही थी। मुठभेड़ में सेना ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के दो आंतकियों को भी मार गिराया। शहीद कर्नल एमएन राय 42 राष्ट्रीय राइफल्स के सीओ थे। कर्नल राय को एक दिन पहले ही गणतंत्र दिवस के मौके पर वीरता पुरस्कार से नवाजा गया था। आतंकियों के कब्जे से बड़ी संख्या में हथियार मिले हैं। उत्तर प्रदेश के गाजीपुर के रहने वाले कर्नल एमएन राय नौ गोरखा राइफल्स में कार्यरत थे लेकिन फिलहाल राष्ट्रीय राइफल्स में प्रतिनियुक्ति पर थे। उनके परिवार में दो बेटियां और एक बेटा है।
Tags: , , ,

0 comments

Leave a Reply