बराक ओबामा की सुरक्षा

GoTvNews
भारत ने ओबामा की यात्रा सुरक्षित तरीके से संपन्नि कराने के लिए जोरदार सुरक्षा प्रबंध किए हैं। ओबामा की सुरक्षा की जिम्मेरदारी मुख्यप रूप से नौ लोगों पर है। ये नौ लोग उन एजेंसियों के प्रमुख हैं, जिनके जिम्मे‍ ओबामा की सात स्तूरीय सुरक्षा का जिम्मा है। ओबामा की आगरा यात्रा के दौरान उनकी सुरक्षा में करीब चार हजार पुलिस वाले तैनात रहेंगे। अमेरिकी सीक्रेट सर्विस के 100 एजेंट, बुलेटप्रूफ गाड़ियां, हेलिकॉप्टर और यमुना में मोटरबोट के जरिए भी निगरानी रखी जाएगी दिल्ली में राजपथ पर गणतंत्र दिवस समारोह में 26 जनवरी को बतौर चीफ गेस्ट शामिल होने जा रहे अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा की सुरक्षा के लिए शनिवार से ही 12,000 पुलिस और अद्धसैनिक बल के जवानों की तैनाती शुरू हो जाएगी। स्नाइपर शूटर रेसिडेंशियल कॉम्पलेक्स की ऊंची इमारतों से सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखेंगे। दिल्ली पुलिस के अधिकारी के मुताबिक स्पेशल वेपंस एंड टैक्टिक्स टीम (स्वात) के जवान, जिन्हें हाई-रिस्क ऑपरेशन चलाने का प्रशिक्षण प्राप्त होता है, उन्हें तैनात किया जाएगा राजपथ पर परेड के दौरान ओबामा के लिए सात स्तरों की सुरक्षा होगी। सुरक्षा के इन सात घेरों की कमान अलग-अलग सुरक्षा एजेंसियों को दी गई है। ओबामा की सुरक्षा की जिम्मेदारी हर एजेंसी के मुखिया के ऊपर होगी, जिसकी तैनाती राजपथ पर होगी दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क समझे जाने वाले अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा की सुरक्षा के पहले घेरे की जिम्मेदारी उनके ही देश की सीक्रेट सर्विस और एजेंसियों के पास होगी। ओबामा की सुरक्षा का पहला और सबसे भीतरी घेरा उनके ही देश की सीक्रेट सर्विस एंड एजेंसी तैयार करेगी। सीक्रेट सर्विस के स्पेशल कमांडो हर खतरे का मुकाबला कर ओबामा की सुरक्षा करेंगे। वे आधुनिक तकनीक और हथियारों से लैस होते हैं। ओबामा और उनकी पत्नी के पास सुरक्षा घेरे में शामिल हर शख्स का पूरा ब्योरा रहेगा। जोसफ पी. क्लेंसी यूएस सीक्रेट सर्विस के प्रमुख हैं। ओबामा के पहले घेरे की अंतिम जिम्मेदारी जोसफ के कंधों पर रहेगी। जोसफ के पास सीक्रेट सर्विस में काम करने का 27 साल का तजुर्बा है। जोसफ मई, 1984 में सीक्रेट सर्विस के एजेंट बने थे।
Tags: , , , , ,

0 comments

Leave a Reply