मनमोहन सिह कमजोर प्रधानमंत्री : टाइम्स पत्रिका

GoTvNews
नई दिल्ली:देश के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अपनी सरकार में भले ही सबसे अच्छे नेता हो.और भारतीय मीड़िया भी यदाकदा मनमोहन सिंह को अच्छा प्रधानमंत्री जताती रही हो.मगर अमेरिका की प्रतिष्ठित पत्रिका 'टाइम' ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की क्षमता पर सवाल उठाया है. टाइम ने अपने ताज़ा अंक के मुखपृष्ठ पर मनमोहन सिंह की तस्वीर छापते हुए उन्हें एक कमज़ोर नेता बताया है. पत्रिका ने मनमोहन सिंह के प्रदर्शन को उम्मीद से कम बताया है. पत्रिका ने अपने ताजा अंक में लिखा है कि ऐसे में जबकि देश की अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी है, वह निर्णायक रूप से काम करने में नाकाम रहे हैं.पत्रिका ने 16 जुलाई, 2012 के अपने एशिया संस्करण के अंक में प्रधानमंत्री की तस्वीर प्रकाशित की है. 79 वर्षीय मनमोहन सिंह की तस्वीर के नीचे लिखा है, "अंडरअचीवर (फिसड्डी). भारत को नए सिरे से शुरुआत करने की आवश्यकता है. क्या प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह इसके लिए योग्य हैं?" 'अ मैन इन शैडो' शीर्षक से प्रकाशित पत्रिका के अग्र लेख में देश की सुस्त आर्थिक रफ्तार के लिए प्रधानमंत्री और उनकी सरकार की आलोचना की गई है.ग़ौरतलब है कि 31 मार्च, 2012 को समाप्त हुई तिमाही में देश की विकास दर नौ वर्षो के सबसे निचले स्तर 5.3 प्रतिशत पर पहुंच गई. सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वर्ष 2011-12 में गिरकर 6.5 प्रतिशत हो गया, जबकि इससे पहले के वर्ष में यह 8.4 प्रतिशत था.पत्रिका का यह अंक अगले सप्ताह बाजार में आएगा. इसमें कहा गया है, "घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय निवेशकों में निराशा पैदा हो रही है. महंगाई के कारण मतदाताओं का भी विश्वास डिग रहा है. एक के बाद एक सामने आ रहे घोटालों ने सरकार की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े कर दिए हैं." इसके अलावा टाइम ने लिखा है कि मनमोहन सिंह के नेतृत्व में अहम बिल संसद में अटके हुए हैं. सच यही है कि पेंशन, बीमा और टैक्स से जुड़े हुए अहम बिल अभी तक पास नहीं हो पाए हैं.
Tags: , , , ,

0 comments

Leave a Reply