मुश्किल में प्रणव मुखर्जी

GoTvNews
ब्यूरो-राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार प्रणव मुखर्जी की मुश्किले दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है प्रणव पर पहले से ही विपक्षी उम्मीदवार संगमा आये दिन नये नये आरोप लगाते रहते है वही अब बीजेपी के राज्यसभा सदस्य और मशहूर वकील राम जेठमलानी ने फिर हमला बोला है। जेठमलानी ने उन पर इमर्जेंसी के वक्त हुई 'ज्यादतियों' में सहयोगी होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा इस वजह से मुखर्जी नैतिक तौर पर देश के राष्ट्रपति बनने के काबिल नहीं हैं। उन्होंने कहा इमर्जेंसी के वक्त की गई ज्यादतियों के लिए जनता प्रणव को माफ कर सकती है, लेकिन वह नहीं करेंगे। जेठमलानी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा,'इमर्जेंसी की ज्यादतियों को रोकने के लिए मुखर्जी ने क्या किया था? वह उस समय संजय गांधी के सहयोगी थे और 2010 में कांग्रेस के इतिहास पर एक किताब में उन्होंने इंदिरा गांधी को बचाने के लिए सारी ज्यादतियों के लिए संजय को जिम्मेदार ठहराया था।' एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार पी.ए. संगमा की तारीफ करते हुए जेठमलानी ने कहा कि मुखर्जी के मुकाबले पूर्व लोकसभा अध्यक्ष संगमा का ट्रैक रिकार्ड साफ सुथरा रहा है। उन्होंने कहा, 'जनता मुखर्जी को माफ कर सकती है और जो उन्होंने किया उसे भूल सकती है। लेकिन मैं ऐसा नहीं कर सकता हूं। मैं आपातकाल के दौरान बार काउंसिल का चेयरमैन था जब मैंने इमर्जेंसी का विरोध किया था। संजय गांधी ने ऐलान किया था कि वह मुझे जिंदा या मुर्दा चाहते हैं।'
Tags: , , , , ,

0 comments

Leave a Reply