मोदी हो सकते है पीएम पद के दावेदार :संघ


GoTvNews

नई दिल्ली संघ ने एक बार फिर नरेन्द्र मोदी को 2014 के लिए पीएम पद का उम्मीदवार बनाने के संकेत दिये है संघ के मुखपत्रों पांचजन्य और ऑर्गेनाइजर ने गुजरात दंगों के बारे में उच्चतम न्यायालय द्वारा गठित विशेष जांच दल एसआईटी की रिपोर्ट में मोदी को क्लीन चिट दिए जाने को प्रमुखता से प्रकाशित करते हुए उनकी राष्ट्रीय भूमिका की ओर संकेत किया है।पांचजन्य ने अपने संपादकीय में लिखा है कि कांग्रेस की शह पर धर्मनिरपेक्ष जमात का मोदी विरोधी दुष्प्रचार एसआईटी की रिपोर्ट और सर्वेक्षणों के सामने ध्वस्त होता दिखाई दे रहा है। मोदी अपनी हिन्दुत्वनिष्ठ दृढ़ता और लोकहितकारी प्रशासनिक कौशल के कारण कांग्रेस के लिए एक बड़ी चुनौती के रूप में खड़े हैं। मोदी की बढ़ती लोकप्रियता के सामने कांग्रेसी नेतृत्व बहुत बौना दिखाई दे रहा है।संघ के मुखपत्र में यह राय उस समय व्यक्त की गई है, जब राजनीतिक हलकों में वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव को 'मोदी बनाम राहुल गांधी' मुकाबले के रूप में देखा जा रहाहै।संपादकीय में एसआईटी की रिपोर्ट को मोदी की छवि को 'राक्षसी' बनाने में लगे लोगों के मुंह पर तमाचा बताते हुए कहा गया है कि अब इस दुष्प्रचार का अंत होना चाहिए क्योंकि कई बार इसकी कलई खुल चुकी है।
मोदी की लोकप्रियता इंग्लैंड की पत्रिका इकनोमिस्ट से होती हुई उस अमेरिका के सिर पर चढ़कर बोल रही है, जिसने कभी उन्हें वीजा देने से इनकारकर दिया था। एक सर्वेक्षण में प्रधानमंत्री पद के लिए मोदी को 24 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया है, जबकि कांग्रेस के 'तारणहार' माने जाने वाले कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी को महज 17 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया है। संघ के मुखपत्र ने लिखा है कि यहां तक कि विश्व प्रसिद्ध पत्रिका टाइम भी मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में देख रही है, जो कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी के मुकाबले बेहद मजबूत दावेदार हैं। एसआईटी की रिपोर्ट आने के बाद मोदी ने ठीक ही कहा है कि गुजरात की विकास यात्रा को दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती। यह उनकी संकल्पशक्ति, राष्ट्रवादी दृष्टिकोण और जनसेवा की भावना की ही अभिव्यक्ति है। मुखपत्र ने आगे लिखा है कि अब देश की जनता गुजरात से बाहर उनकी राष्ट्रीय भूमिका की प्रतीक्षा कर रही है।
Tags: , , , ,

0 comments

Leave a Reply