22लाख नहीं दिए, रेप कर दिया

22 लाख रुपये वसूलने के लिए महिला का रेप ही कर दिया... वारदात राजधानी दिल्ली की है जहां रकम वापस नहीं करने वाली महिला को सबक सिखाने के लिए पहले उसका अपहरण किया और फिर गैंग रेप किया गया।

दिल्ली को शर्मसार करने वाली ये वारदात पिछले साल 10 मार्च की है... दरअसल सोनीपत की एक महिला अपने परिवार के साथ साउथ वेस्ट दिल्ली के नजफगढ़ के दीनपुर गांव में रहने लगी थी। वारदात के दिन वह कार में अपनी 17 और 15 साल की दो बेटियों को स्कूल से लेकर आ रही थी। रास्ते में उनकी कार को कुछ लोगों ने अपनी गाड़ी से ओवरटेक कर रोक लिया। दोनों लड़कियों को जबरन कार से बाहर निकाल कर दो लोग कार में घुस गए और महिला का उन्हीं की कार में अपहरण कर लिया। अपहर्ताओं के बाकी साथी दूसरी कार में चल रहे थे।

आगे जाकर महिला की कार में पंक्चर हो गया। अब अपहर्ताओं ने महिला को खींचकर अपनी गाड़ी में डाल लिया। इस दौरान महिला ने शोर मचाया तो लोग जमा हो गए। शोर मचाने की वजह के बारे में अपहर्ताओं ने लोगों को बताया कि वह उनकी भाभी है , जो बुखार का इलाज कराने के लिए अस्पताल ले जाने से नाराज होकर शोर मचा रही है। लोग वापस चले गए और अपहर्ता महिला को लेकर चल पड़े।

डीसीपी ( क्राइम ब्रांच ) के मुताबिक , महिला का अपहरण जयदेव , कपिल , अनिल और निरंजन ने किया था। रास्ते में गाड़ी रोककर झड़ौदा के खेतों में जयदेव और कपिल ने रेप किया। वहां से महिला को सोनीपत ले जाकर नरेंद्र उर्फ बल्ले के हवाले कर दिया गया। आरोप है कि इस अपहरण की सुपारी उसी ने दी थी। नरेंद्र बल्ले ने सोनीपत में महिला से रेप किया और अपने घर में कैद कर लिया।

दूसरी ओर , अपहरण के बाद महिला की दोनों बेटियों ने पुलिस कॉल कर दी थी। उनके बयान पर छावला थाने में अपहरण का केस दर्ज कर लिया गया था। नरेंद्र बल्ले महिला को रोहतक ले गया। वहां कोरे कागजों पर दस्तखत कराने के दो दिन बाद महिला को बहादुरगढ़ जाने वाली बस में बैठा दिया गया। वहां से वह दीनपुर अपने घर पहुंची। उसके बयान पर पुलिस ने केस में गैंगरेप की धारा भी जोड़ दी। महिला के बयान मैजिस्ट्रेट के सामने करा लिए गए।

पुलिस ने नरेंद्र बल्ले, कपिल, अनिल, राजेंद्र, निरंजन आदि मुलजिमों को गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन तब से जयदेव फरार था। गिरफ्तारी के बाद बल्ले ने बताया था कि महिला सोनीपत में कमिटी (कुछ लोगों का ग्रुप जो आपस में पैसे इकट्ठा करते हैं और फिर यह पैसा किसी एक के नाम पर्ची के जरिए निकाला जाता है) में कई लोगों के जमा लाखों रुपये लेकर दिल्ली आकर रहने लगी थी। बल्ले ने अपनी रकम 22 लाख रुपये बताई थी, जिसे वह महिला लेकर चली आई थी। इसी का बदला लेने के लिए उसका अपहरण और गैंग रेप किया गया था। फरार जयदेव को अब क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर सुरेश कुमार की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। उसकी गिरफ्तारी नजफगढ़ इलाके से दर्शाई गई है।
Tags: , , , , , ,

0 comments

Leave a Reply