ये मुलायम सिंह हैं या मुंगेरी लाल

मुलायम सिंह अब मुलायम सिंह नहीं मुंगेरीलाल बन गए हैं.. और देख रहे हैं दिन दहाड़े सपने... वो भी खुली आंखों से... लखनऊ में उन्होंने जो बयान दिया उससे तो यही लगता है... मुलायम ने कहा कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुलायम सिंह यादव ने शनिवार को लखनऊ में कहा कि समाजवादी पार्टी की बसपा से सीधी लड़ाई है, वैसे भाजपा और कांग्रेस भी हमारे विरोध में हैं, इसके बावजूद सन् 2012 में उत्तर प्रदेश में और सन् 2014 में दिल्ली में समाजवादी पार्टी का ही परचम लहराएगा। उन्होने कहा बस जरूरत सपा के प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित करने की ताकि बहुमत की सरकार बन सके।

मुलायम पार्टी मुख्यालय 19, विक्रमादित्य मार्ग, लखनऊ में जुटे सैकड़ों कार्यकर्ताओं को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होने प्रदेश की वर्तमान बसपा सरकार और इसकी मुखिया पर जनहित और किसानों की उपेक्षा करने और भ्रष्टाचार को संगठित रूप देने का आरोप लगाया। उन्होने कहा मुख्यमंत्री अपने को दलित की बेटी कहती है लेकिन वे 15 लाख की सैंडिल पहनती हैं जबकि गांव में दलित मां-बेटी को सस्ती हवाई चप्पले भी नसीब नहीं होती है। मुख्यमंत्री के सभी मातहत करोड़पति हो गए हैं। राज्य में बसपा की यह सबसे भ्रष्ट सरकार है। इसका काम केवल धन उगाही और सत्ता का दुरूपयोग करना है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि बसपा सरकार ने जनहित, किसानों के हित में कभी कोई काम नहीं किया है। समाजवादी पार्टी की सरकार में कई काम हुए थे जिनका अनुसरण दूसरे राज्यों ने भी किया था। समाजवादी पार्टी के कार्यकाल में बीए में 51 प्रतिशत छात्राएं थी अब 30 प्रतिशत रह गई है। कन्या विद्याधन मिलना बंद हो गया हे। समाजवादी पार्टी सरकार में सबसे कम कर्जदार थे अब किसान आत्महत्या कर रहे है या उनकी हत्या हो रही है। उनकी खेती योग्य बेशकीमती जमीन बिल्डरों को देने के लिए जबरन छीनी जा रही है। व्यापारी लूटे जा रहे है। वकील पिट रहे हैं। नौजवान कुंठित हैं। बेरोजगार परेशान हैं।

श्री यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी सरकार ने जनहित में जो काम किए है, उनके सघन प्रचार की आवश्यकता है। जनता चाहती है समाजवादी पार्टी की सरकार बने। जनता के सहयोग से ही समाजवादी पार्टी प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित होगी। इसके लिए एकजुट होकर सबको लगना होगा। उन्होने कहा कि हमारे कार्यकर्ता गांव और खेत में हैं। उनकी निष्ठा, लगन और अथक प्रयासों से ही समाजवादी पार्टी को मजबूती मिलेगी।

निश्चित रूप से मुलायम सिंह के अनुसार वे सारी परिस्थितियां जायज हैं जिसे वे बता रहे हैं लेकिन खुद सपा कहां खड़ी है? सपा शासन के दौरान कुछ वैसा ही माहौल था जैसा बसपा शासन के दौरान है तो फिर भला किस मुंह से मुलायम ताना मार रहे हैं. वैसे भी राज्य में तेजी से उभरती भाजपा बसपा के लिए कम सपा के लिए ज्यादा बड़ा संकट है। कहीं ऐसा न हो कि मुलायम सिंह का सत्ता पर पहुंचने का सपना मुंगेरीलाल का हसीन सपना बनकर रह जाए।

Tags: , , , ,

0 comments

Leave a Reply