दिल्ली हाईकोर्ट के बाहर बम ब्लास्ट


रोज़ मर्रा की तरह सभी लोग अपने अपने काम में लगे हुए थे और ऐसा ही कुछ नज़ारा था दिल्ली की हाई कोर्ट के बाहर का। लोग कोर्ट के अंदर जाने के लिए पास बनवाने की लाइन में लगे हुए थे तभी अचानक एक ज़ोर का धमाका होता और पूरा हाईकोर्ट परिसर हिल जाता है। ज़रा सी देर में सभी इधर उधर भागते हुए नज़र आते हैं चारों तरफ चीख पुकार मच जाती है। पता चलता है हाईकोर्ट के बाहर गेट नम्बर पांच के पास बम फटा है और उसके बाद का नज़ारा देख कर दिल दहल गया।
सब तरफ लोग ज़ख्न्मी पड़े हैं और कुछ लोग मरे हुए पड़े हैं किसी का हाथ गायब था तो किसी की टांग इस बम धमाके में उड़ गयी थी। आनन फानन में पुलिस को बुलाया जाता है और पूरे इलाके को सील कर दिया जाता है पुलिस ने बताया है कि ये धमाका काफी हाइ इंटेनसिटी का था और इसमे 12 लोगों के मारे जाने की खबर है और 85 घायल बताये जा रहे हैं।
दिल्ली में ये कोई पहली बार नहीं है ऐसे धमाके आए दिन देखने और सुनने के लिए मिल जाते हैं।
हम आपको बताते हैं कि दिल्ली में कब और कहां धमाके हो चुके हैं..

25 मई 2011
दिल्ली हाईकोर्ट के परिसर में ही धमाका हुए लेकिन इसमें कोई हताहत नहीं हुआ।

27 सितम्बर 2008
दिल्ली के मैहरोली में फूलों की मार्केट में धमाका हुआ जिसमें 3 लोग मारे गये और 21 घायल हुए।

13 सितम्बर 2008
45 मिनट के अंदर अंदर दिल्ली में पांच बम धमाके होते हैं ये धमाके क्नॉट प्लेस, गफ्फार मार्केट, करोल बाग, एम ब्लॉक मार्केट और ग्रेटर कैलाश में हुए जिसमें 25 लोगों ने अपनी जान गवाई और 100 सो ज्यादा घायल हुए।

14 अप्रैल 2006
दिल्ली की जामा मस्जिद में दो बम धमाके हुए जिसमें 14 लोग घायल हुए।

29 अक्तूबर 2005
दिल्ली के सरोजनी नगर, पहाड़ गंज और गोकुलपुरी में तीन धमाके हुए जिसमें 59 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा और 100 लोग घायल हुए।

22 मई 2005
दिल्ली के एक सिनेमा घर में दो सीरियल ब्लास्ट में एक शख्स की जान गयी और 60 घायल हुए।

18 जून 2000
दिल्ली में लाल किले के पास हुए बम घमाके में 8 साल की बच्ची समेत 2 लोगों की जान गयी।

26 जून 1998
दिल्ली के कश्मीरी गेट इलाके में आईएसबीटी के पास हुए दो बम धमाको में 2 लोगों की मौत हुई और 3 घायल हुए।

30 दिसम्बर 1997
दिल्ली के पंजाबी बाग इलाके में बस में हुए बम धमाके में 4 लोगों की जान गयी और 30 लोग घायल हुए।

30 नवम्बर 1997
दिल्ली में लाल किले के पास हुए दो बम धमाकों में 3 लोग मारे गये और 70 लोग घायल हुए।

26 अक्तूबर 1997
दिल्ली की करोल बाग मार्किट में हुए दो बम धमाकों में एक की मौत और 34 घायल।

18 अक्तूबर 1997
दिल्ली की रानी बाग मार्किट में हुए दो बम धमाकों में एक की मौत और 23 घायल।

10 अक्तूबर 1997
दिल्ली के शांति वन, कोड़िया पुल और किंग्सवे कैंम्प में हुए तीन बम धमाको में एक की मौत और 16 घायल।

1 अक्तूबर 1997
दिल्ली के सदर बाजार में हुए दो बम धमाकों में 3 लोग घायल।

9 जनवरी 1997
दिल्ली के आईटीओ पर हुए बम धमाके में 50 लोग घायल।
Tags: , , , , ,

0 comments

Leave a Reply