तुला राशि: चुनौतियों से भरा होगा 2011

तुला राशि वालों का स्‍वामी ग्रह शुक्र है। स्‍वामी ग्रह के विशेष प्रभाव के कारण साल 2011 आपके लिए समृद्धि एवं भौतिक लाभ लेकर आएगा। बुध ग्रह की दृष्टि हमेशा आप पर बनी रहने के कारण आपके अंदर मेष राशि वाले लोगों के जैसे गुण दिखाई देते हैं, लेकिन फिर भी आपका व्‍यवहार हमेशा सबसे अलग होता है। तुला राशि वाले तेज से परिपूर्ण, शिष्‍टता से भरे और बेहतरीन व्‍यवहार वाले होते हैं।

इनकी खासियत है कि वो हमेशा अपने कार्य और विचारों को सुलझे ढंग से प्रस्‍तुत करते हैं। सही सोच और व्‍यवहार में शालीनता इन्‍हें आगे बढ़ाती है। बात अगर 2011 की करें तो इस साल राहु और केतु ज्‍यादातर समय के लिए क्रमश: दूसरे व आठवें स्‍थान पर रहेंगे, साथ 12वें स्‍थान पर बैठे शनि की उन पर सीधी दृष्टि होगी। ज्‍योतिष के मुताबिक यह योग अच्‍छे समय का संकेत

नहीं है। यानी साल 2011 आपके लिए चुनौतियों से भरा हो सकता है। खर्च सामान्‍य से अधिक होंगे। बड़ी हानि भी हो सकती है। हालांकि ब्रहस्‍पति के सकारात्‍मक प्रभाव के कारण परिवार में सब कुछ अच्‍छा चलेगा। यही नहीं कला, बिजनेस, अदालत और संगीत से जुड़े लोगों के लिए यह साल अच्‍छा साबित हो सकता है।

तमाम बड़ी चुनौतियों के बीच 2011 में आपके लिए नए अवसर प्राप्‍त हो सकते हैं। काम का बोझ तेजी से बढ़ेगा, यदि आप गतिशील और सक्रिय बने रहे, तो जीवन में आने वाली परेशानियां खुद ब खुद हल होती जाएंगी। जीवन में नए द्वार खोलने के लिए अभी से तैयार हो जाएं। मई के बाद विवाह एवं नए संबंध बनने का योग है। लोगों के बीच प्रतिष्‍ठा और सम्‍मान बढ़ेगा। नए निवेश न करें। जून में वित्‍तीय परेशानियां कुछ हद तक हल हो जाएंगी। नवंबर में जब शनि आपकी राशि के पहले स्‍थान में प्रवेश करेगा तब स्थितियों में बदलाव आएगा और एक बार फिर अच्‍छा समय शुरू होगा, जिसमें भाग्‍योदय के साथ तेजी से ऊपर उठने की संभावना है। पारिवारिक मामलों में चुनौतियां बरकरार रहेंगी।

15 जनवरी 2011 तक आपका सकारात्‍मक समय है, इस दौरान आगे बढ़ने की संभावना है, लेकिन उसके बाद चुनौतियों से भरा समय शुरू हो जाएगा। शुरू के दोनो महीनों में परिवार में कलह या किसी बड़े मुद्दे में आप ऐसे उलझेंगे कि जीवन अस्‍तव्‍यस्‍त सा लगने लगेगा। इन्‍हें सुलझाने के लिए आपको सूझबूझ से काम लेना होगा, आवेश में आकर कोई निर्णय न लें। लड़ाई झगड़े से दूर रहे तो अच्‍छा होगा।

मार्च-अप्रैल में व्‍यवसायिक जीवन में कोई खास परिवर्तन नहीं दिखाई देगा। बच्‍चों से जुड़े मामलों में आप उलझ सकते हैं। 17 मार्च के बाद स्थिति में थोड़ा सुधार होगा। वरिष्‍ठों के सहयोग से आपका मनोबल एक बार फिर बढ़ जाएगा। हालांकि काम का बोझ बढ़ने के कारण काफी मेहनत करनी होगी। 18 अप्रैल के बाद बड़ी परेशानियां आ सकती हैं। व्‍यवसायिक एवं शादी-शुदा जीवन दोनो प्रभावित हो सकते हैं।

मई-जून में स्‍वास्‍थ्‍य खराब हो सकता है। परेशानियां आपको आम लगने लगेंगी। आप काफी थकान महसूस करेंगे, लेकिन यदि अप टूट गए तो कुछ हांसिल नहीं होने वाला। तुला राशि वाले ज्‍यादातर सकारात्‍मक सोच वाले होते हैं। यहीं पर आपका असली इम्‍तहान होगा। सकारात्‍मक सोच रखते हुए यदि आप आगे बढ़ते जाएंगे, तो सब कुछ अच्‍छी तरह चलता रहेगा। 17 जून से आपके जीवन में परिवर्तन दिखने शुरू हो जाएंगे। एक बार फिर भाग्‍य के द्वार खुलेंगे। यात्रा के योग भी बनेंगे।

15 जनवरी 2011 तक आपका सकारात्‍मक समय है, इस दौरान आगे बढ़ने की संभावना है, लेकिन उसके बाद चुनौतियों से भरा समय शुरू हो जाएगा। शुरू के दोनो महीनों में परिवार में कलह या किसी बड़े मुद्दे में आप ऐसे उलझेंगे कि जीवन अस्‍तव्‍यस्‍त सा लगने लगेगा। इन्‍हें सुलझाने के लिए आपको सूझबूझ से काम लेना होगा, आवेश में आकर कोई निर्णय न लें। लड़ाई झगड़े से दूर रहे तो अच्‍छा होगा।

मार्च-अप्रैल में व्‍यवसायिक जीवन में कोई खास परिवर्तन नहीं दिखाई देगा। बच्‍चों से जुड़े मामलों में आप उलझ सकते हैं। 17 मार्च के बाद स्थिति में थोड़ा सुधार होगा। वरिष्‍ठों के सहयोग से आपका मनोबल एक बार फिर बढ़ जाएगा। हालांकि काम का बोझ बढ़ने के कारण काफी मेहनत करनी होगी। 18 अप्रैल के बाद बड़ी परेशानियां आ सकती हैं। व्‍यवसायिक एवं शादी-शुदा जीवन दोनो प्रभावित हो सकते हैं।

मई-जून में स्‍वास्‍थ्‍य खराब हो सकता है। परेशानियां आपको आम लगने लगेंगी। आप काफी थकान महसूस करेंगे, लेकिन यदि अप टूट गए तो कुछ हांसिल नहीं होने वाला। तुला राशि वाले ज्‍यादातर सकारात्‍मक सोच वाले होते हैं। यहीं पर आपका असली इम्‍तहान होगा। सकारात्‍मक सोच रखते हुए यदि आप आगे बढ़ते जाएंगे, तो सब कुछ अच्‍छी तरह चलता रहेगा। 17 जून से आपके जीवन में परिवर्तन दिखने शुरू हो जाएंगे। एक बार फिर भाग्‍य के द्वार खुलेंगे। यात्रा के योग भी बनेंगे।
Tags: ,

0 comments

Leave a Reply