अन्नागिरी के आगे झुकी सरकार

अन्नागीरी ने रंग दिखाया। अब शुक्रवार से संसद में जन लोकपाल विधेयक पर चर्चा होगी। साथ ही अन्ना ने भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए जो तीन और अहम उपाय बताए थे, उन्हें भी मानने का सरकार लिखित भरोसा देने जा रही है। सूत्रों के अनुसार, यह फैसला प्रधानमंत्री और सीनियर मंत्रियों की मीटिंग में लिया गया।

सूत्रों के अनुसार, लोकसभा में चर्चा नियम 184 के तहत होगी, जिसमें वोटिंग शामिल है। इस दौरान लोकपाल बिल, जनलोकपाल बिल, अरुणा राय और जयप्रकाश नारायण के ड्रॉफ्टों पर चर्चा के बाद आम सहमति बनाने की कोशिश की जाएगी। सूत्रों के अनुसार, संसद में चर्चा खासतौर पर तैयार ड्राफ्ट पर होगी, जिसमें जनलोकपाल बिल की खास बातें तो शामिल होंगी ही, दूसरी सिविल सोसाइटीज के प्रस्तावों को भी शामिल किया जाएगा।

संसद की स्थायी समिति की लोकपाल बिल पर पहली मीटिंग 7 सितंबर को होगी। समिति ने जुडिशियल अकाउंटिबिलिटी बिल भी फाइनल कर लिया है। इसमें सीनियर जजों पर भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच करने वाली 5 सदस्यीय टीम में लोकसभा और राज्यसभा के 1-1 सांसद भी शामिल करने की सिफारिश की गई है।
Tags: ,

0 comments

Leave a Reply