बात चीत से ही निकलेगा हल

पाकिस्तान ने रविवार को अपना आज़ादी दिवस मनाया. प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने राजधानी इस्लामाबाद में झंडा फ़हराया.

गिलानी ने अपने संबोधन में कहा है कि पाकिस्तान के सामने आज चरमपंथ की चुनौती है और पूरा देश इसके ख़िलाफ़ एक जुट है.

अपने भाषण में पाकिस्तानी प्रधामंत्री ने भारत का भी ज़िक्र किया. उन्होंने कहा, “भारत हमारा अहम दोस्त है. हम चाहते हैं कि दोनों देश बातचीत के ज़रिए समस्याओं के हल निकालें ताकि भारत और पाकिस्तान को ग़रीबी, अनपढ़ता और पिछड़ेपन के अभिशाप से छुटकारा मिल सके.”

वहीं अफ़ग़ानिस्तान के बारे में गिलानी ने कहा कि पाकिस्तान शांतिपूर्ण और समृद्ध अफ़ग़ानिस्तान चाहता है.

पाकिस्तान पर लगने वाले आतंकवाद और चरमपंथ के आरोपों को उन्होंने बेबुनियाद बताते हुए कहा कि उनका देश ख़ुद इसका शिकार है.

गिलानी का कहना था कि पाकिस्तान दूसरे देशों की संप्रभुता का सम्मान करता है और बदले में वो उम्मीद करता है कि बाकी देश भी उसकी संप्रभुता का सम्मान करें. पाकिस्तान के अन्य इलाक़ों में भी आज़ादी दिवस मनाया गया है.

इस बीच पाकिस्तान के दक्षिण-पश्चिम में हुए बम विस्फोट में कम से कम 11 लोग मारे गए हैं. ये धमाका एक रेस्तरां में हुआ. कहा जा रहा है कि शायद ये धमाका ब्लूचिस्तान में दो मंज़िला इमारत में विस्फोट से हुआ.

एक रिपोर्ट के मुताबिक मलबे में ज़िंदा बचे लोगों को निकालने के लिए स्थानीय लोग कोशिश कर रहे थे. ब्लूचिस्तान में हमले होना अब आम बात हो चुकी है.

Tags:

0 comments

Leave a Reply