लोकतंत्र और भीड़ तंत्र में बड़ा फर्क है- प्रणब

नई दिल्ली, लोकसभा में लोकपाल मुद्दे पर हुई बहस का जवाब देते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने शनिवार को गांधीवादी अन्ना हजारे पक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि लोकतंत्र और भीड़तंत्र में फर्क होता है।

मुखर्जी ने कहा, 'यह कहना कि सरकार का विधेयक वापस होना चाहिए और इसे खुलेआम जलाना चाहिए, यह लोकतांत्रिक तरीका नहीं है।'अन्ना हजारे और उनके सहयोगियों द्वारा अपना जन लोकपाल विधेयक संसद के मौजूदा सत्र के दौरान पारित करने की निर्धारित समयसीमा का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, 'लोकतंत्र और भीड़तंत्र में अंतर होता है।'
Tags: ,

0 comments

Leave a Reply