ये क्या कह गईं ब्रिटिश मंत्री-‘नौकरी चाहिए तो जाओ मुंबई’

लंदन.नौकरी के लिए मुंबई जाने की सलाह देकर ब्रिटेन की डेविड कैमरन सरकार की मंत्री टेरेसा विलियर्स ने विवाद को जन्म दे दिया है। न्यू कैसल स्थित कॉल सेंटर से निकाले गए कर्मियों के संबंध में एक सांसद को लिखे पत्र में यह बात कही है। विपक्षी लेबर पार्टी ने इसपर आपत्ति जताई है।

पार्टी ने कहा है कि नौकरी के लिए पूवरेत्तर इंग्लैंड से 5,000 मील दूर भारत भेजने के लिए कहना पागलपन भरा और देशद्रोही बयान है। गौरतलब है कि न्यू कैसल स्थित कॉल सेंटर बैरन हाउस को हाल में बंद कर दिया गया है। इसके कारण तकरीबन 200 कर्मचारी बेरोजगार हो गए हैं। इससे क्षेत्र की अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका लगा है।

इसी मसले पर विलियर्स ने कहा था कि जिन कर्मचारियों को निकाल दिया गया है उन्हें मुंबई भेज देना चाहिए। विलियर्स ने सांसद सर एलेन बीथ को लिखे पत्र में यह बात कही है। विलियर्स ने इसके साथ ही बीथ को आश्वस्त करते हुए पत्र में कहा है कि ट्रांसफर ऑफ अंडरटेकिंग कर्मचारियों की सुरक्षा नियम ट्यूप के तहत कर्मचारियों का भविष्य सुरक्षित है।

इन कर्मचारियों को नए सेवा प्रदाताओं के पास उस जगह स्थानांतरित किया जाएगा जहां ये सेवाएं जारी हैं। विलियर्स ने कहा है कि ‘ जो कर्मचारी नई जगह पर जाने में असमर्थ हैं उन्हें स्वैच्छिक बेकारी रिडंडेंसी पैकेज या ईस्ट कोस्ट में वैकल्पिक भूमिका अदा करने की पेशकश की जाएगी।’

इसके कारण पैदा हुए विवाद को अब शांत करने की कोशिश भी शुरू हो गई है। इसकी पहल खुद बीथ की ओर से की गई है। बीथ ने कहा है कि विलियर्स के इस सलाह का मतलब शायद यह था कि जो लोग काम के लिए दूसरे जगह जाना चाहते हैं उन्हें मुंबई भेजा जा सकता है।
Tags: ,

0 comments

Leave a Reply