शुक्रवार से जमेगा रामलीला में अन्ना का रण

तिहाड़ जेल में 2 रात बिताने और दिल्ली पुलिस से लंबी बातचीत के बाद अन्ना हजारे का सरकार से समझौता हो ही गया। पुलिस पहले ही झुक गई थी , टीम अन्ना भी 1 महीने की बजाय 15 दिन के अनशन के लिए मान गई है। तय हुआ कि रामलीला मैदान तैयार न होने के कारण अन्ना गुरुवार की रात भी जेल में रहेंगे और वहां शुक्रवार से अनशन शुरू करेंगे। टीम अन्ना ने 2 पेज की अंडरटेकिंग पुलिस को दी है, जिस पर अन्ना, अरविंद केजरीवाल, किरण बेदी, प्रशांत व शांति भूषण ने साइन किए हैं। इसके अनुसार, वे प्रदर्शनकारियों से संबंधित सुप्रीम कोर्ट के 16 अप्रैल 2009 के निर्देशों का पालन करेंगे।

यह समझौता टीम अन्ना के अहम सदस्यों किरण बेदी और प्रशांत भूषण की दिल्ली पुलिस कमिश्नर बी. के. गुप्ता से बातचीत में हुआ, जिसकी जानकारी बेदी ने सुबह ट्वीट करके दी। बाद में, उन्होंने कहा कि यह आमरण अनशन नहीं है। जब तक अन्ना की सेहत इजाजत देगी, वह अनशन करते रहेंगे। जीत और हार के सवाल पर बेदी ने कहा, हमने उन्हें सुना, उन्होंने हमें और बीच का रास्ता निकल गया।

अरविंद केजरीवाल ने पत्रकारों से कहा, अगर जनलोकपाल बिल के साथ जुडिशियल अकाउंटेबिलिटी बिल भी पेश किया जाए, तो हम इसका स्वागत करेंगे, लेकिन प्रधानमंत्री को लोकपाल बिल के दायरे में ही होना चाहिए।

गृह सचिव आर. के. सिंह के अनुसार, दिल्ली पुलिस ने गृह मंत्रालय को बताया है कि अन्ना को 2 सितंबर तक अनशन की इजाजत शर्तों के साथ दी गई है। इस बीच, सेंट्रल दिल्ली में जेपी पार्क और आसपास के इलाकों से धारा 144 हटा दी गई है।
Tags: ,

0 comments

Leave a Reply